Power Bank ||Best Earning App 2021



Love Satus In Hindi || मोहब्बत शायरी Heart touching shayari in Hindi lyrics



❤️Love Satus In Hindi || मोहब्बत शायरी❤️






वो मोहोब्बत थी मेरी जाँ, 
देख ना उसे गुनाहों की तरह❤️

जैसे चाहा था मैंने...
कौन चाहेगा तुम्हें दीवानों की तरह ..!! ❤️

 जो मोहब्बत पर खुब लिखते हैं ...वो

 मोहब्बत करना छोड़ चुके होते हैं..!!


दुख इस बात का नही कि तुम बदल गए,

बस हैरानी इतनी है कि तुम भी बदल गए..!!❤️


मेनें तुझे हर शहर में ढूंढ़ा,

अब तु मुझे मेरी शायरी में ढूढ़ लेना...!!!


मैं इश्क़ हूँ....बस हो जाता हूँ।।तुम्हारे ख़्याल से ही ये फ़िज़ाओं का रंगीन हो जाना,

महज़ इत्तिफ़ाक़ नहीं, सबूत-ऐ-इश्क़ है! ..


मुमकिन नहीं वो बेखबर हो मेरे जज़्बात से,

बात दिल कि थी, दिल तक तो जाती होगी .....


रिश्ते जरूरतों के हो तो.... मजबूर करते हैं ..!!

रिश्ते जज्बातों के हो तो.... मजबूत करते हैं..!!


हमारा" हिसाब "कर दीजिए .

हमें अब और....इश्क नहीं करना !!


वो मेरे लिए अधिक.....  मै उसके लिए अल्प,

वो मेरे लिए अनिवार्य.... मै उसके लिए विकल्प?


रात थी..!! तन्हाईयाँ थीं..!! तेरा ख़्याल था..!!

शोर इतना था के आँख लगना मुहाल था..!!


मोहब्बत भी कटी पतंग जैसी ही है जनाब,

गिरती  वहीं  है  जिसकी  छत  बड़ी  होती  है.।


एक ही दिन में, पढ़ लोगे क्या मुझे...

मैंने खुद को लिखने में, कई साल लगाए हैं..!!


हमनें हाथ फैला कर इश्क मांगा था,

सनम ने हाथ चूमकर जान निकाल दी।


एक ठहरा हुआ दरिया है तेरी आंखों में,

जाने किस घाट पे मारेगी तेरी प्यास मुझे ।

Heart Touching

तुम्हारी किस अदा सें बचकर रहूँ मैं..

तुम्हारी  हर अदा सें इश्क  होता है मुझें..♥️ 🥰🥰


हुस्न पर तो हर कोई मर जाता है,

रूह सुनहरी लगे तो समझना इश्क हैं !


मैं उसको जितना देखूँ प्यास उतनी ही बढ़े,

इन आँखों में उसके अक्स की तलब ऐसी है..


मुझे बहुत कुछ पढ़ना है 

कुछ, किताबे 

कूछ लोग और 

कुछ हसीन आँखें।। 🖤


तेरे कहने पर छोड़ा है तुझे ,

ज़माने से ना कहना बेवफ़ा हु मैं,

       


सुना था फ़रिश्ते जान लेते है,

मुर्शिद 

खैर छोड़ो अब तो इंसान लेते है

     


ये ज़िंदगी है 

जहाँ कभी नफ़रतों से मिलता है सुक़ून, कभी चाहते रुला देती है.....

     

Heart touching shayari in Hindi lyrics

पूरी रात की है बात,

तेरे बिना तेरी तस्वीर के साथ....

    

हमारा और उनका प्यार तो देखो यारों

कलम से नशा हम करते है और मदहोश वो हो जाते हैं।


सत्य,

पहली नजर में तो सिर्फ मोह जन्म लेता है,

प्रेम तो आहिस्ता-आहिस्ता  हीं होता है..।


प्यार  "हम उम्र" से हो, ये ज़रूरी तो नहीं दोस्त ....

प्यार  तो "हर उम्र" को "हम उम्र" बना देता है दोस्त ....


अपने दिल के रास्ते से तेरे 

यादों को मोड़ रहे है....


Shayari Pyar Mohabbat


तुझे बुरा लगता है मेरा ह़क़ जताना

चलो आज से हक़ जताना छोड़ रहे है ।


एक आदत सी....

बन गई हो आप..

जिन्दगी आप के संग गुजरे ना गुजरे..

मगर आपको ख्यालों में..

क्या खूब गुजरती है..


चाहत - ए - इश्क़ बेवजह ही रहने दो,

वजह दे कर कहीं, साजिश ना बन जाए।


जिन्हें प्रेम मिला, उन्होंने प्रेम मे शायरी लिखीं ....

और जिन्हें प्रेम नहीं मिला उन्होंने शायरी में प्रेम लिखा ..


इश्क़ में आँखें बोलती है,

मुहब्बत पागलों की गूफतगू है।


मुझे तो क़ैद-ए-मोहब्बत अज़ीज़ थी लेकिन, 

किसी ने मुझ को गिरफ़्तार कर के छोड़ दिया...


बहुत संभाल कर

खर्च करते है तेरी यादों की दौलत

आखिर एक उम्र 

गुजारनी है इन्हीं की बदौलत...


सोंप दी जाती है जब किसी एक को "दिल की सलतनत"......

फिर किसी दूसरे को "तख्त- ए- ताज" पहनाया नहीं  जाता....!!


हम से न हो सकेगी,

मोहब्बत की नुमाइश,

बस इतना जानते है,

तुम्हे चाहते है हम।

heart touching love shayari in hindi for girlfriend lyrics

अपनी सांसें अपनी आहें तुम पर वार बैठे हैं,

मोहब्ब्त तेरे सदके खुद को हार बैठे हैं........


उतना हसीन 

तो फिर ,

कोई लम्हा ना मिला ,


जिसमें तुझे 

चाहना ही मेरा

एक मात्र काम था ....।।


हमें एहमियत नहीँ दी गयी,

और हम जान तक दे रहे थे..!


ख़ुमार- ए-इश्क से बेहतर मिज़ाज भी नहीं कोई..

मर्ज़-ए-मोहब्बत का मगर इलाज भी नहीं कोई!

Ishk Mohabbat

महक जाऊं मैं तेरे इश्क की खुश्बू से,

तुम मुझसे मिलकर कोई ऐसी बहार दे।


कुबूल हैं मुझे सारी नज़र अंदाजिया तेरी,

बस शर्त इतनी सी है कि तेरे इश़्क में मिलावट ना हो.........!!


जब मुश्किल समय आए,

सब कुछ बेकाबू हो जाए....

उससे थोड़ा और प्रेम करना,

जिससे तुम अब तक करते आए...!!

bepanah

ठहर जाती तो शायद मिल जाते हम तुम्हें,

इश्क में इन्तजार किया करते हैं, जल्दबाजी नहीं...


ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,

अच्छा, याद आई है मेरी!! तो फिर काम बोलिए..!


नब्ज़ क्या ख़ाक बोलेगी हुज़ूर,

जो दिल पे गुज़री है वो दिल ही जानता है।


काश मेरी यादों में तुम, इस कदर उलझ जाओ, 

इधर हम याद करें,उधर तुम समझ जाओ...


रूह में समाए हो तुम

 इस क़दर ।

कोई देखें मुझे तो 

नज़र तुम्हीं आते हो ।।


याद उसकी अभी भी आती है,

बुरी आदत है कहां जाती है !!


बिना पूछे ही सुलझ जाती हैं...

सवालों की गुत्थियाँ....


कुछ आँखें इतनी...

हाज़िर-जवाब होती हैं...


इश्क़ का तो ऐसा हिसाब है साहब...

कि बंद हो चुका नंबर भी

डिलीट करने का मन नहीं करता..


जलवे तो बेपनाह थे इस कायनात में,

ये बात और है कि नजर तुम पर ही ठहर गई...


स्टेट बैंक की मैनेजर सी हो तुम,

परेशान खाता धारक सा हूं मै।


मसरूफियत में आती है बे-हद तुम्हारी याद,

फुर्सत में तेरी याद से फुर्सत नहीं मिलती"


मेरे दिल में तुम, रहने लगे हो..

धड़कने बार बार तुम्हारा ज़िक्र करती हैं..


नुक्स निकालते हैं लोग इस कदर हम में..

जैसे उन्हें खुदा चाहिए था और हम इंसान निकले !!


मेरी मोहब्बत की ना सही, मेरे सलिके की तो दाद दे,

रोज़ तेरा ज़िक्र करता हूँ, बगैर तेरा नाम लिये !


कितना प्यार है तुमसे, 

कैसे तुमे अपनी शायरी 

के सहारे बताऊँ....

महसूस करो मेरे एहसास को, 

अब गवाह मैं कहाँ से लाऊँ...!!


किन-ख्यालों-में-गुम-हो

मेरी-नजर-से-देखो,

हर-तरफ-तुम-ही-तुम-हो

फिज़ाओं-में-महक़ी-है,

तुम्हारी---खुशबू,

हर-साँस-में-ज़िन्दगी-तुम-हो


ये-वादियाँ-कह-रही-हैं-हँसकर,

तुम्हीं-से-है-मोहब्बत,

मोहब्बत-से-तुम-हो..........!


मै शायर हूं मुहब्बत का इश्क़ से नज़्म सजाता हूं,

कभी पढ़ता हूं मुहब्बत को कभी मुहब्बत लिख जाता हूं ।


अल्फाजों में ढाल के रख दिया है "दिल",

फिर भी पूछते हो, मुहब्बत है या नहीं....


बस  !!

एक ही झिझक है यही हाल ए दिल

सुनाने में,

कि तेरा जिक्र भी आएगा

इस फसाने में...!!


इतने जल्द ना सारे राज़ बताया करो...

गर बात लंबी करनी हो तो कुछ राज़ छिपाया करो...।।।


नशा था उनके प्यार का जिसमें हम खो गए,

हमें भी नहीं पता चला कि कब हम उनके हो गए..!!


ख्याल _ए _यार में नींद का तसव्वुर कैसा

आँख लगती ही नहीं आँख लगी है जबसे !


तुम्हारी कब्र पर जिसने तुम्हारा नाम लिखा है ,

वो झूठा है तुम्हारी कब्र में मैं दफन हूं तुम मुझमें जिंदा हो...😢💔😢


नफ़रत भी नहीं हैं,

गुस्सा भी नहीं हूं पर,

तेरी जिंदगी का अब हिस्सा भी नहीं हूं ।


खफा होना, इतराना, फिर लिपट जाना..!

तीनो ही रंगों में बहुत जंचती हो तुम..!!


"कोई पागल ही मोहब्बत से नवाज़ेगा मुझे

आप सब तो खैर 'समझदार' नज़र आते हैं"


दुआ है कि तुझे हर.....

कोई प्यार करे.....

पर बद्दुआ ये भी है कि 

कोई मेरी तरह ना करे.....!!!


मोहब्बत की किताबों पे

लिखावट लिख के जाना है,

जन्म-जन्मों के बंधन को

अमर कर के दिखाना है..!!


मिसालें भूल जाएंगे 

सब लैला और मजनू की, 

वो उनका ज़माना था 

अब अपना ज़माना है..!!


उसने पूछा...सात जनम तक साथ

दोगे न मेरा...?

मैंने कहा मियाद तुम तय करो,,,मैं

सिर्फ मुहब्बत करूंगा..!!


इंतज़ार मोहब्बत का दूसरा नाम है 

पर 

जरूरी तो नही की सब करे .......


सुनो.....

तुमसे मिलने का मन है.....😌

कहो तो सपने में आ जाऊं......🤗🤗


कैसे सीने से लगाऊँ किसी और के हो तुम,,

मेरे होते तो बताते मोहब्बत किसको कहते हैं.,

#sukun


खेलिए , तोड़ीये फुर्सत के लिए अच्छे हैं,

हम खिलौने हैं खेलने के लिए अच्छे हैं !


अल्फाज भले ही मेरे कहीं न पहुंचे,

मगर लिखने की चाहत मेरा इश्क हैं !


तुम मेरे दिल की उस गली में रहते हो

जहाँ पहला घर खुदा का है...

  

नज़दीकियों का असल रंग

दूरियों में झलकता है

नज़दीकियों में वहम

और दूरियों में प्यार पनपता है..


कस्में हैं;

जो हम आज भी निभा रहे हैं...!!

तुम्हें चाहते थे;

और तुम्हें ही चाह रहे हैं...!!


लफ़्जों से क्या दिल की बात करना,

उसको आता है,मेरी आंखों से दिल का हाल पढ़ना।...


अदा निराली है इश्क़ करने की

शिकायतों में भी तुम_ही_हो

और दुआ में भी तुम हो...💕


हम इश्क़ मांगे तो जिस्म के भूखे,

तुम मांगो तो रूहानी इश्क?


शायरी यूँ ही बे-सबब नहीं लिखी जाती,

शायर के दिल में भी एक तस्वीर होती है।


अल्फाजों के दीवाने तो बहुत मिलेंगे दोस्त

तलाश उसकी करना जो खामोशी पढ़ ले..


बातें भी बंद हो गयी है हमारी,

अब किस बात पर खफा हो तुम?


तुम बन जाओ सुकून वाला रविवार हमारा..

मैं 3 दिन पहले से करु इंतेज़ार तुम्हारा..!!


हिसाब से की होती तो मोहब्बत न कहते उसे,

वो खुदा का हुक्म था, बेपनाह माना मैंने...


सीखा ही तो रही है ज़िंदगी आहिस्ता- आहिस्ता 

जाने क्यो लोग नीद की गोलियां क्यो लेते है .....

    


मैं तुम्हारी चुप में,

छुपी हज़ार बात हूँ,

होठों की मुस्कान में,

दबी-दबी हँसी हूँ,

कानों में घुलता,

मद्धम-मद्धम सा सुर हूँ,

मैं जो हूँ, जितना हूँ,

वो बस तुम हूँ,

तुम में हूं।


"सुर्ख गुलाब सी तुम हो,

जिन्दगी के बहाव सी तुम हो,

हर कोई पढ़ने को बेकरार,

पढ़ने वाली किताब सी तुम हो।"


उस ने एक छोटी भूल की ..

और हम ने ..

वो याद रखकर बड़ी भूल की .. !!

attitude shayari

कौन कहता है हम उसके

बिना मर जायेंगे,......


हम तो दरिया है समंदर में

उतर जायेंगे...


वो तरस जायेंगे प्यार की एक

बूँद के लिए......,


हम तो बादल है प्यार के कहीं और

बरस जायेंगे.....!!!


"कौन पूरी तरह काबिल है..

कौन पूरी तरह पूरा है..

हर एक शक्स कही न कही...

किसी जगह थोड़ा सा अधूरा है.......


संभल कर किया करो लोगो से बुराई मेरी,

तुम्हारे तमाम अपने हमारे मुरीद है ....!!!


है मेरा महबूब 

 " बेपरवाह " पर क्या करें

उसी से है मोहब्बत

 " बेपनाह " तो क्या करें???


इतनी शिकायत लाते कहां से हो,,,,

इश्क़ करते हो या हिसाब...!!


उन्हें भरम है कि मुंह फेर लेने से भूल जायेंगे हमें,

कौन समझाये उन्हें कि आंख मूंदने से रात नहीं होती...


आकर्षण शायद अनेकों के लिए हो सकता है..? 

पर समर्पण सिर्फ एक के लिये होता है..!


तुम्हारा दिया हुआ इंतजार तुम्हें सौप जाएंगे,

हम चले जाएंगे तुम्हें इंतजार में छोड़कर..


प्यार की वारदात होने दो,

कुछ तो ऐसे हालात होने दो,

लफ्ज़ अगर बात नहीं कर सकते,

तो आँखों की आँखों में बात होने दो.


मेरा जीतना अब औऱ भी मुश्किल है,

मेरी जंग जो अब खुद से ही होने लगी हैं... .

   

नही मिलेगा तुझे कोई हमसा,

जा इजाजत है जमाना आजमा ले.....

  

हाँ!! हर व्यक्ति धोखा नहीं देता ,

पर अब मैं भरोसा नहीं करती ....

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें