Type Here to Get Search Results !

HINDI LOVE SHAYRI

0

अब तो खुदा ही बताए.कैसे मुकम्मल होगा मेरा इश्क़ क्युकी........

शायरी वो समझते नही और. अदाए हमे आती नही...!!

वक्त के साथ सब कुछ ठीक हो जाता है,

पर यादें मरते दम तक साथ नहीं छोडती है !!

#missing....


नजरों ही नजरों में अनकही बात हो 

जाती है,🙈

तेरा ख्याल आते ही चेहरे पे मुस्कान आ जाती है,☺️

इस वक्त नहीं मिल सकते तो क्या हुआ,😒

तुमसे तो सपनों में ही मुलाकात हो जाती है।😍


#love #romantic

इतने बेताब इतने बेक़रार क्यूँ हैं

लोग जरूरत से होशियार क्यूँ हैं! 


मुंह पे तो सभी  दोस्त हैं लेकिन

पीठ  पीछे दुश्मन हज़ार क्यूँ  हैं!  


हर चेहरे पर इक मुखौटा है यारो

लोग ज़हर में डूबे किरदार क्यूँ हैं!


सब काट रहे हैं यहां इक दूजे को 

लोग सभी दो धारी तलवार क्यूँ हैं!


सब को सबकी हर खबर चाहिए

लोग चलते फिरते अखबार क्यूँ हैं !


उसने कहा अपना दिल चीर कर मेरा नाम दिखा दो ।🙄

मैं बोला तेरी कितनों से सेटिंग है पहले अपना एक बार whats app दिखा दो ।

🤣😜😝😂😝

#life


तुम आते कब हो और जाते कब हो समझ नही पाती हूँ मैं,

तुमसे करती हूँ मुहोब्बत अब होश संभाल नही पाती हूँ मैं,

तुम मेरे लिए जरूरी हो ये बात भूला नही पाती हूँ मैं,

मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ, ये सच छुपा नही पाती हूँ मैं😍😍



सुनो दुनियावालो जरा गौर फरमाइयेगा

इश्क़ कीजियेगा तो फिर मंजिल ना तलाशियेगा

किसीको दिल दीजियेगा तो फिर दिल वापस पाने की उम्मीद न कीजियेगा

दुख काफी हैं दुनिया मे खुशिया बाँट पाओ तो बताइयेगा

कोई पूछे आपको हाल अपना तो मुस्कुरा दीजियेगा😍😘


*Bachhan's poem on FRIENDSHIP :*

_____________________

....मै यादों का

    किस्सा खोलूँ तो,

    कुछ दोस्त बहुत

    याद आते हैं....


...मै गुजरे पल को सोचूँ 

   तो, कुछ दोस्त 

   बहुत याद आते हैं....

 

_...अब जाने कौन सी नगरी में,_

_...आबाद हैं जाकर मुद्दत से....😔_


....मै देर रात तक जागूँ तो ,

    कुछ दोस्त 

    बहुत याद आते हैं....


....कुछ बातें थीं फूलों जैसी,

....कुछ लहजे खुशबू जैसे थे,

....मै शहर-ए-चमन में टहलूँ तो,

....कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं.


_...सबकी जिंदगी बदल गयी,_

_...एक नए सिरे में ढल गयी,_😔


_...किसी को नौकरी से फुरसत नही..._

_...किसी को दोस्तों की जरुरत नही...._😔


_...सारे यार गुम हो गये हैं..._

...."तू" से "तुम" और "आप" हो गये है....


....मै गुजरे पल को सोचूँ 

    तो, कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं....


_...धीरे धीरे उम्र कट जाती है..._

_...जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,_😔

_...कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है..._

  _और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है ..._😔


....किनारो पे सागर के खजाने नहीं आते, 

....फिर जीवन में दोस्त पुराने नहीं आते...


_....जी लो इन पलों को हस के दोस्त,_😁

    _फिर लौट के दोस्ती के जमाने नहीं आते .....



अगर आपको कोई रोकता है,

टोकता है, आपका वक्त मांगता है,

तो आप बहुत किस्मत वाले हैं,

क्योंकि Care करने वाले

किस्मत वालो को ही मिलते हैं,

उनकी कदर कीजिये क्योंकि

ये एक बार जो दूर हो

जाये तो जिंदगी भर नही मिलते।


बड़ी दुआओं से पाया है मैंने तुझको,

किस्मत से छीनकर लाया है मैंने तुझको,

कैसे जाने दे सकता हूँ तुझे अपने से दूर,

ख्वाब में थी तू हक़ीक़त बनाया है मैंने तुझको।



इन अंधेरों में जीना अच्छा लगता है

आपकी यादों में रहना भी अच्छा लगता है

माना के छोड़ के चले गए हो आप मुझे

लेकिन आप पर  हर बार मर मिट जाने को  दिल करता है



नही था इश्क़ तो मुझसे बता देता,

पर ये किस अकेलेपन के मंजर में धकेल गया,


मेरी आँखें थक गई है इंतज़ार करते-करते ,

औऱ

तू है के मेरे जिस्म के साथ साथ जज्बातों से भी खेल गया.....

 😔😔😔


तस्वीरो मै नहीं ,

यादो मे रेहना आता है ।

मुझे,

क्यूकि तस्वीरो का अक्सर दफना दिया जाता  है।

भुलाने के लिऐ....।

A̸ཞ₮ł Ͳh̸𝖺ƙØƦ 🖊🖊🖊🖊


ये मोहब्बत है....मर जाने से भी जाती नहीं,

तू कोई कैदी नही जो रिहा हो जायेगा....


     हम झुकते हैं, क्योंकि 

     मुझे रिश्ते निभाने का

     शौक है...;

     वरना 

     गलत तो हम कल भी

     नहीं थे और आज भी

     नहीं हैं....

     

     किसी को तकलीफ देना,

     मेरी आदत नहीं...,

     बिन बुलाया मेहमान

     बनना मेरी आदत नहीं..,


     मैं अपने गम में रहता हूँ,

     नबाबों की तरह..!!

     परायी खुशियों के पास

     जाना मेरी आदत नहीं...!


     सबको हँसता ही देखना

     चाहता हूँ मैं,

     किसी को धोखे से भी

     रुलाना मेरी आदत नहीं..,


     बाँटना चाहता हूँ, तो बस

     प्यार और मोहब्बत...,

     यूँ नफरत फैलाना मेरी

     आदत नहीं...!!


     जिंदगी मिट जाए, किसी

     के खातिर गम नहीं,

     कोई बद्दुआ दे मरने की

     यूँ जीना मेरी आदत

     नहीं...!!


     सबसे दोस्त की हैसियत

     से बोल लेता हूँ...,

     किसी का दिल दु:खा दूँ,

     मेरी आदत नहीं...!!


     दोस्ती होती है, दिलों से

     चाहने पर,

     जबरदस्ती दोस्ती करना,

     मेरी आदत नहीं..!


     नाम छोटा है, मगर दिल

     बड़ा रखता हूँ...,

     पैसों से उतना अमीर

     नहीं हूँ...,

     मगर, 

     अपने दोस्तों के गम...

     खरीदने की हैसियत

     रखता हूँ।........

╭─❀⊰ ➺

╨───────────────────━❥

▪️दनिया मे झूठे लोगों को बड़े हुनर आते हैं.....

▪️सच्चे लोग तो इलज़ाम से ही मर जाते हैं.

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,

होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है....!

ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है

इसलिए हम अपने आँसुओ को छिपा कर रखते है....!!

╨───────────────────━❥

उलझने हैं बहुत...

सुलझा लिया करता हूँ ,

फोटो खिंचवाते वक़्त मैं अक्सर...

मुस्कुरा लिया करता हूँ ,


क्यूँ नुमाइश करूँ मैं,

अपने माथे पर शिकन की,

मैं अक्सर मुस्कुरा के इन्हें..

मिटा दिया करता हूँ,


क्योंकि..

जब लड़ना है खुद को खुद ही से,

हार-जीत में इसलिए कोई फ़र्क नहीं रखता हूँ।


हारूं या जीतूं कोई रंज नहीं,

कभी खुद को जिता देता हूँ,

कभी खुद से जीत जाता  हूँ.....!


ज़िंदगी तुम बहुत खूबसूरत हो,

इसलिए मैंने... तुम्हें,

सोचना बंद और....

जीना शुरू कर दिया है...।


╭─❀⊰╯💓➺

╨──────────────────━❥

जिन्हें न अपनों ने अपना समझा

जरा उन्हें भी सलाम कर लें

किसी को दो पल सुकूँन देकर

दुआओं का इंतज़ाम कर लें।


इस क़दर डूबे रहे हम प्यार में की,

लोग भूलते गए हमे मालूम न रहा।


बड़ी सिदत से निभाते रहे हम प्यार को,

लोग ठुकरा के चले गए हमे मालूम न रहा।

💔💔💔💔💔💔💔💔💔💔💔💔


❀⊰ ➺


वो कहता हैं तुम्हारी मुस्कान मासूम हैं,

उसे कोई बतादो मेरे मुस्कान कि वजह जो वो हैं।


वो कहता हैं, तुम कमाल की हो

उसे कोई बतादो, मुहोब्बत कमाल हैं मैं

 या वो नही ।


वो कहता हैं, तुम खाना बहुत लजीज बनाती हो

उसे कोई बतादो बनाती भी तो किसी अजीज के लिए ही हूँ।


वो कहता हैं, तुम समझदार हो

उसे कोई बतादो कोई समझदार भी कभी इश्क़ करता हैं?


वो कहता हैं, तुम बेहद खूबसूरत हो

उसे कोई बतादो, खूबसूरत मैं नही कुसूर उसके नजर का हैं।


वो कहता हैं , तुम कहा गुम रहती हो

उसे कोई बतादो उसीके दिल मे रेहती हूँ।





जिसके साथ अब बात करनी है वो थोड़ा भाव खायगी...ओर ज्यादा बोलोगे तो Attitude वाला लेक्चर सुनाएगी..पर वक़्त वक़्त की बात है आज इग्नोर कर रही है चल कोई ना..बाद में बात करने के लिए भी फेक id बनायेग



कलम से खत लिखने का रिवाज़ फिर आना चाइए,

ये चैटिंग की दुनिया बड़ा फरेब फैला रही है।


मोहब्बत इजहार कर नहीं सकते

बिना इजहार किये भी रह नहीं सकते

काश ऐसी तकदीर बनाते खुदा की वो खुद आकर,

हमसे कहते की हम आपके बिना रह नहीं सकते❤️❤️



कुछ वक़्त तो दिया होता इंतज़ार का,

तो दर्द में थोड़ी राहत होती...!


रोज़ रात को अकेले चलते है ये सोचकर,,

पीछे से कभी तो तेरे क़दमों की आहट होगी..!!

❣️❣️


तेरे काऱण क्या दुख क्या परेशानी होगी,

तुझे भला बुरा कहना मेरी नादानी होगी,


तुझे बिन मतलब चाहते रहना है उम्रभर,

तुझसे बदले में पाना प्यार बेमानी होगी,


क्या हुआ तू निभा न पाई रस्में उल्फत,

रिश्ते बचाने की हर रस्म निभानी होगी,


मुझे रुसवा कर सकती हो जहाँ चाहो,

मुझे अश्क़ों की गुस्ताखी छुपानी होगी,


मुझे कोई शिकायत नहीं तुमसे बस

मुझसे नाराजगी की वजह बतानी होगी।



तेरे प्यार में दो पल की जिंदगी बहुत है,

एक पल की हंसी एक पल की खुशी बहुत है,

ये दुनिया मुझे जाने या न जाने,तेरी आंखे मुझे पहचाने ये बहुत है।।

एक पल की हंसी एक पल की खुशी बहुत है,

ये दुनिया मुझे जाने या न जाने,तेरी आंखे मुझे पहचाने ये बहुत है।।



सच है कि में उनपे शक करती हूं

क्युकी में उनको खोने से डरती हूं,

काश खुदा वो समझते मेरे दिल की 

अहम्यत को की मैं उनसे कितना प्यार करती हूं।।



मैं अपने महबूब की, खिलाफत करूँ कैसे,

वो बिछड़ गया मुझसे, हिफाजत करूँ कैसे,


वो ही मेरी आखिरी और, पहली मोहब्बत है,

मैं अपनी चाहत से अब, बग़ावत करूँ कैसे,


चूमा है कई बार ही उसके, माथे को मैंने,

अब उसकी तस्वीर से मैं, शरारत करूँ कैसे,


लोग बहुत कहते थे, वो मौसम है बदलेगी,

लोगों के कहने से अब, शिनाख्त करूँ कैसे,


मैं काट नही सकता उसकी बात कोई 

मैं उसके शहर में जाने की, हिम्मत करूँ कैसे?



मुँह में राम राम बगल में छुरी रखते हैं,

लोग दिल में धोखा नजर बुरी रखते हैं,


खुद उलझे हुए हों भले गलत कामों में,

मगर औरों में ताकाझांकी पूरी रखते हैं,


बनेंगे हमदर्द दिखावे का मुखोटा पहन,

वक़्त आते तेज कदमों की धुरी रखते हैं,


चुनाव आते ही अपनापन बढ़ जाता है,

नतीजे आते ही गरीबों से दूरी रखते हैं,


आंधी चली थी कल रात इल्ज़ामों की


सुबह रिश्ता  बिखरा बिखरा सा मिला...!!



नहीं होगी, तो कह देंगे वफ़ादारी नहीं होती..

 मगर हमसे ताल्लुक में, अदाकारी नहीं होती ... 


Ek na ek din mujse mil jane ka wada karo


Zindagi me meri fir se aane ka wada karo


Bahut hi tanha hu main tumhare bina,


Muje apne gale se lagane ka wada karo


Choom kar mere hontho ko tum,


Meri saanso mein bas jaane ka wada karo 


Basa ke apne dil me hamesha sath rehne ka wada karo


Jo kabhi na chhute wo milne ka wada karo 🙃



हर बार हम पर इल्जाम लगा देते हो 

मुहब्बत का,💞💞


कभी खुद से भी पूंछा है 

इतनी खूबसूरत क्यों हो🤗🤗



प्यार, इश्क़ और मोहब्बत होता अपने आप हैं........❤️❤️


       गोर कीजिएगा जनाब आप लोग😁


प्यार, इश्क़ और मोहब्बत होता अपने आप है,

दोस्तो मेरी ज़िन्दगी बेकार है

क्युकी धोका हमेशा मेरे साथ हैं।।।🤞🤞💔💔

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां